Total Pageviews

Thursday, 13 April 2017

अब आप चम्मच, कांटे और चॉपस्टिकस को भी खा सकते हैं

हम कितनी बार कैंटीन या होटल जैसी जगहों पर जाते हैं जहां हमें कई बार खाना खाने के लिए प्लास्टिक की चम्मच मिलती है और हम इन प्लास्टिक की चम्मचों से आराम से खाना भी खा लेते हैं। इस बात से तो हम वाकिफ हैं कि प्लास्टिक हमारी सेहत और पर्यावरण के लिए कितना नुकसानदेह है। भारत में लगभग 120 बिलियन प्लास्टिक कटलरी को इस्तेमाल करके फेंका जाता है। प्यहां तक कि एक छोटे से प्लास्टिक के कप को भी नष्ट होने में 50 वर्ष से अधिक समय लग जाता है। ये एक ऐसा पदार्थ होता है जो कभी खत्म नहीं होता। इसे जलाने पर भी जो गैस निकलती है वो इंसानों और जानवरों दोनों के लिए ही अभिशाप है। लेकिन हमारे देश में कुछ लोग ऐसे भी हैं जो स्वेच्छा से पर्यावरण और लोगों के स्वास्थ के बारे में सोचते हैं और कुछ करते भी हैं। इसी प्रकार जब नारायण पीसापति को प्लास्टिक से होने वाले नुकासन के बारे में पता चला तो उन्होंने खुद के साथ-साथ आम लोगों के लिए भी एक ऐसी चीज़ बनाई जिसका उपयोग हम रोजमर्रा के जीवन में करते हैं।


48 वर्षीय नारायण पीसापति जो Bakey's Food Private Limited के मैनेजिंग डायरेक्टर होने के साथ-साथ इसके संस्थापक भी हैं। आज उन्होंने प्लास्टिक कटलेरी (छुरी, कांटा, चम्मच आदि) के स्थान पर Edible (खाने योग्य) कटलेरी का विकल्प खोज लिया है। 2010 से ही Bakey's खाने योग्य कटलेरी बना रहा है, जिसमें अलग-अलग तरह के चम्मच सहित चॉप स्टिक्स शामिल हैं।


इन खाने योग्य कटलेरी को ज्वार, चावल और गेहूं के मिश्रण से बनाया जाता है। इन चम्मच और चॉप स्टिक्स से आप आसानी से भोजन खा सकते हैं, क्योंकि ये पानी या खाने में रखने से पिघलती नहीं है। ये 10 से 15 मिनट बाद अपने आप नरम पड़ने लगती है। आप अपना भोजन समाप्त करने के बाद इसे खा भी सकते हैं। लेकिन अगर आप ऐसा नहीं करना चाहते तो वो 5 से 6 दिन बाद अपने आप नष्ट हो जाती है। नारायण को इस तरह की कटलेरी बनाने का विचार तब आया था, जब वे अहमदाबाद से हैदराबाद जा रहे थे। फ्लाइट में उन्होंने देखा कि एक यात्री गुजराती खाखरे के एक टुकड़े का इस्तेमाल मिठाई खाने के लिए कर रहा था।
Bakey's edible cutlery ना केवल enviornment-friendly है बल्कि हमारे स्वास्थय के लिए भी अच्छा विकल्प है। पौष्टिक आटों द्वारा बनने के साथ-साथ इन कटलरी में कोई रसायनिक संरक्षक नहीं है और ये कटलरी 100 प्रतिशत प्राकृतिक है। आप इसे प्लास्टिक की चम्मच की तरह ही गर्म चाय, काॅफी या सूप पीने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं


Bakey's Edible Cutlery की विशेषतायें:-
1. आप इसके साथ खाना खा सकते हैं और आप उसके बाद इस चम्मच को खा भी सकते हैं क्योंकि यह चम्मच पौष्टिक ही नहीं, स्वादिष्ट भी है।
2. यदि आप इसे नहीं खाना चाहते तो आप इसे फेंक सकते हैं और 4-5 दिन में यह अपने आप खत्म हो जायेगी।
3. नारायण पीसापति द्वारा बनाई गई कटलरी बिना इस्तेमाल करे 3 साल से ज्यादा रख सकते हैं।
4. उनके द्वारा बनाई गई कटलरी अलग-अलग स्वादों में आती है जैसे - मीठी, अदरक-दालचीनी, अदरक और लहसुन, पुदीना और अदरक, गाजर और चुकन्दर आदि।
5. इन कटलरी की कीमत है 300 रूपये में 100 चम्मच। चाहे वह किसी भी स्वाद की हो, सभी की कीमत 300 रूपये है।
नारायण पीसापति ने केवल एडिबल कटलरी का आविष्कार ही नहीं किया है बल्कि सन् 2016 के मध्य से उनका यह प्रयास भी रहा है कि स्वतः मशीन के विकास से एडिबल कटलरी की उत्पादन क्षमता बढ़े और यह कोशिश भी रही है कि किस प्रकार बड़े आॅर्डरों और कम सप्लाई के बीच का अंतर घट सके। नारायण पीसापति जी योग्यता के अनुसार इंजिनियर नहीं हैं। लेकिन आवश्यकता और अपनी तकनीकी शिक्षा में आनंद लेने से वे एक इंजिनियर बन पाये हैं। उन्हें विज्ञान कथा, जासूसी उपन्यास पढ़ना और अपने विचारों के साथ प्रयोग करना बहुत अच्छा लगता है।
ICRISAT के पूर्व शोधकर्ता नारायण पीसापति पहले एक ऐसे व्यक्ति है जिन्हें एडिबल कटलरी का विचार आया। उन्होंने  BSC(Hons) chemistry में Osmania University से की और MBA-IIFM Bhopal से की है। नारायण पीसापति ने यह कंपनी पर्यावरण की बढ़ती समस्याओं के समाधान के लिए एक अभिनव समाधान करके स्थापित की है।
Post a Comment