Total Pageviews

Saturday, 25 March 2017

रेशम सिंह और कुलदीप सिंह ने असमतल कृषि भूमि को समतल बनाने के लिए विकसित की मशीन

असमतल कृषि भूमि पर बुवाई करना कठिन होता है। कभी-कभी अतिरिक्त मृदा को निकालना महत्वपूर्ण हो जाता है, जो वर्षा के बाद सतह पर जम गई हो। रेशम सिंह और कुलदीप सिंह ने स्वतंत्रतापूर्वक मशीनों का विकास किया है, जो न केवल मृदा को अलग और समतल कर सकती है बल्कि अलग की गई मृदा से ट्रैक्टर ट्रैलर्स को भी भर सकती है।


लैंड लेवलर और लोडर एक पीटीओ चलित ट्रैक्टर के पीछे चढ़ा हुआ संलग्नक है जो स्क्रैपर ब्लेड के द्वारा सतह से रेत को एकत्रित करता है और एक कन्वेयर व्यवस्था के द्वारा ट्रैक्टर के ट्रैलर में भरता है। इसमें दो कन्वेयर होते हैं जो उस समतल में एक-दूसरे के लंबवत् होते हैं, जो भूमि के समतल पर लंबवत् होता है। कन्वेयर 1 भूमि की ओर 55 अंश पर होता है जबकि कन्वेयर 2 भूमि की ओर क्षैतिज होता है और कन्वेयर 1 के परिणामी पर स्थित होता है। कन्वेयर 2 को भूमि से छः फीट की ऊँचाई के आसपास रखा जाता है। रेत को जमीन से स्क्रैपर ब्लेड द्वारा संग्रहित किया जाता है और कोणों द्वारा एकत्रित किया जाता है जो कन्वेयर 1 के बेल्ट पर स्थित होते है। इस रेत को कन्वेयर 2 की श्रृंखला के साथ-साथ ले जाया जाता है जो इसे समांतर रूप से चलते हुए ट्रैक्टर के ट्रैलर में आठ फीट की ऊँचाई से गिराता है।

उन कुछ क्षेत्रों में इसके उपयोग की अधिक संभावना लगती है जहाँ नहर का पानी उठाने के लिए, साथ ही मार्गों, घर इत्यादि के निर्माण में मृदा को अलग किया जाना हो। औसतन, मशीन रेत के 150 ट्रैलर निकालकर एक दिन में 1 बीघा भूमि (5.8 एकड़) समतल कर सकती है। इसे कस्टम हायरिंग के लिए भी उपयोग किया जा सकता है। कोई व्यक्ति 2रु. प्रति वर्गफीट, प्रति फीट गहराई शुल्क ले सकता है। अलग की गई मृदा को रु. 250-300 प्रति ट्रैलर के मूल्य पर बेचा जाता है। राष्ट्रीय नवप्रर्वतन ने रेशम सिंह और कुलदीप सिंह को अपने सातवें द्विर्षीय पुरस्कार में सम्मानित किया।


उनके इस नवप्रर्वतन को भारतीय पैटेंट के लिए आवेदन किया गया है। कन्वेयर में श्रृंखलाओं का एक सेट होता है। यह एक समय में 4’’ फीट गहरा काट सकता है और 11 फीट लंबा 6 फीट चौड़ा और 2.25 फीट उंचा आकार का ट्रैलर को भरने में लगभग दो मिनट लेता है। इसे 50 एचपी और ऊपर के किसी ट्रैक्टर में लगाया जा सकता है। इस मशीन का उपयोग करते समय, ट्रैक्टर एक घंटे में लगभग पाँच से छः लीटर डीजल का उपभोग करता है। मशीन में 4 फीट की कटिंग चौड़ाई होती है और रेत को 8.5 फीट की ऊँचाई से गिराया जाता है।
Post a Comment